एक ही घर से घंटों निकलते रहे 90 से ज्यादा जहरीले नाग, झुंड देख रेस्क्यू टीम के भी उड़े होश

Snake Viral Photo

सोशल मीडिया पर एक बेहद ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया। एक महिला के घर से रैटलस्नेक्स नामक जहरीले नाग लगातार मिलते रहे। जिसे देखकर हर कोई हैरान है। इन नागो को पकड़ने के लिए रेस्क्यू टीम को बुलाना पड़ा।

जरा सोचिये हमारी घऱ मे से अगर एक साँप निकल जाये तो हमारी हालत ख़राब हो जाती है। अगर किसी के घर में ज्यादा सांप हो तो उसकी क्या हालत होगी इसका हमारे लिए अनुमान लगाना भी मुश्किल है। ऐसा ही एक मामला उत्तरी कैलिफोर्निया के सांता रोजा नामक स्थान का सामने आया।

Group of Snake image

उत्तरी कैलिफोर्निया में रहने वाली इस महिला के घर से एक या दो नहीं बल्कि 92 नाग निकले हैं। अपने घर से इतनी बड़ी संख्या में नागों को निकलता देख वहां रह रही महिला हैरत में पड़ गई। महिला के घर से निकलने वाले इन नागो को रैटलस्नेक्स कहा जाता है। ये नाग इतने खतरनाक होते है कि अगर यह किसी मनुष्य को काट ले तो वह एक घंटे के अंदर ही मर जायेगा।

लगातार इन निकलने वाले नागो को देखकर महिला ने सोनामा काउंटी रेप्टाइल रेस्क्यू नामक संस्था को बुलाया। जो की सांप और नाग पकड़ने का काम करती है। रेस्क्यू टीम ने कड़ी मेहनत करने के बाद सांता रोजा स्थित घर से 92 जहरीले नागों को निकाला।

रेस्क्यू टीम ने अपनी इस कामयाबी के बाद आर्गनाइजेशन के फेसबुक पेज पर अपनी इस सफलता की तस्वीरें भी शेयर की। जो कि अब विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर काफी वायरल हो रही हैं। टीम ने फोटो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि- “मेरे पास कॉल आई थी जिसमें किसी ने कहा कि उनके घर में सांप निकले हैं. तीन घंटे 45 मिनट के बाद मैं उनके घर से नागों के झुंड को लेकर ही बाहर निकला।” इसके बाद कमेंट सेक्शन में आर्गनाइजेशन ने लिखा कि “22 वयस्क नाग और 59 नागों के बच्चे मिले हैं. मैं इस महीने की 15 तारीख से पहले कई बार उस घर में जाऊंगा और जांच करूंगा.”

संस्था के डायरेक्टर ने बयां किया वो मंजर

Sonama County Reptile Rescue

रेस्क्यू संस्था के डायरेक्टर वुल्फ ने इस पर बताया कि मैं घर के नीचे जांच ही कर रहा था तभी मुझे दांयी ओर एक रैटलस्नेक (नाग) मिला। इसके बाद दूसरा और फिर तीसरा। यह देखकर मेरे होश ही उड़ चुके थे। बाहर आकर मैंने दो बाल्टियां उठाईं, सुरक्षा के लिए दस्ताने पहने और नागों को पकड़ने के लिए अंदर चला गया।

आगे वुल्फ ने बताया कि अगले चार घंटों तक सांपों को ढूंढ़ता रहा। मैं सोचता हूं कि सही समय पर उनके पास कॉल आने पर टीम नागों को पकड़ने में कामयाब रही, जो कि मेरे लिए खुशी की बात है। उनका मानना है कि जब आप मकड़ी के जाले और गंदगी की ओर बढ़ते हैं तब आप गंदे हो चुके होते हैं, उस वक्त वहां दुर्गंध आ रही होती है, पेट के बल होने के कारण कपड़े भी मिट्टीयुक्त हो चुके होते हैं। फिर भी यह अच्छा और कारगर है।

रेस्क्यू टीम जब पहली बार उस घर में पहुंचे तो उन्होंने 24 इंच के सांप पकड़ने वाली छड़ के सहारे 22 वयस्क नाग और 59 नागों के बच्चे वहां से निकाले। इसके बाद वे उसी घर पर बाहर आ चुके हैं और तब वे 11 और जहरीले नागों को पकड़ने में सफल हुए हैं।

डायरेक्टर वुल्फ ने नागो की इन प्रजातियों के बारे में बताया कि रैटलस्नेक्स नामक ये जहरीले नाग आमतौर पर अक्टूबर से अप्रैल के बीच छिपने और सोने के लिए चट्टानों के नीचे की या फिर गर्म जगह तलाशते हैं। इतना ही नहीं ये सांप यहां से निकलने के बाद साल दर साल उसी जगह पर लौट भी आते हैं।

इस तरह के सांप प्राय: अपने लिए चट्टान जैसी जगह तलाशते हैं, क्योंकि सुरक्षा की दृष्टि से यही उनके लिए उत्तम होती है। वहीं, पक्के मकान उन्हें चट्टान से भी ज्यादा सुरक्षा प्रदान करते हैं और खासकर जब सर्दियों का समय हो। सर्दियों के समय में इन्हें आवश्यकतानुसार गर्माहट और सुरक्षा केवल पक्के मकानों में ही मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top