मध्यप्रदेश के किसान ने किया कमाल, बगीचे में उगाई लाल भिंडी, जानिए कितनी है कीमत

Red Lady finger

भिंडी आमतौर पर सभी को पसंद होती है भिंडी को हरी सब्जियों की गिनती में गिना जाता है लेकिन क्या अपने कभी लाल रंग की भिंडी के बारे में सुना है। जी है लाल रंग की भिंडी के बारे में सुनकर आपको हैरानी होरही होगी। लेकिन लाल रंग की भिंडी भी उगाई गयी है।

भारत में भिंडी की खेती गर्मी में ज्यादा होती है भिंडी को लोग बहुत चाव से खाना पसंद करते है। भिंडी खाने में जितनी स्वादिष्ट होती है उतनी ही पौष्टिक भी होती है। भिंडी को आप हमेशा से ही एक हरी सब्जी के तौर पर जानते होंगे मगर भारत के एक किसान ने अपने बगीचे में लाल भिंडी (Red Ladyfinger) उगाकर सभी को चौंका दिया है। वैसे आप भिंडी के लाल रंग के बारे में जानकर हैरान हो गए होंगे। भोपाल के रहने वाले एक किसान ने लाल रंग की भिंडी उगाकर लोगो को हेरत में डाल दिया।

MP Red Ladyfinger

मध्यप्रदेश के भोपाल के रहने वाले एक किसान जिनका नाम है मिश्रीलाल राजपूत। मिश्रीलाल भोपाल के खजूरी कलां के रहने वाले है। इन्होने अपने बगीचे में लाल भिंडी उगाई है। किसान ने बताया कि उसने जुलाई में बीज बोए थे और महज 40 दिनों में फसल उग आई और अब उसके बगीचे में लाल भिंडियां उग आई हैं। किसान ने यह भी बताया की यह लाल भिंडी हरी भिंडी की तुलना में ज्यादा पौष्टिक है और उन लोग के लिए ज्यादा फायदेमंद है जिन्हे दिल की बीमारी, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज या कॉलेस्ट्रोल जैसी शिकायत है।

MP Red Ladyfinger

मिश्रीलाल नाम के इस किसान ने यह भी बताया की इस भिंडी की कीमत हरी भिंडी की तुलना में 5 से 6 गुना ज्यादा है। इस भिंडी की कीमत शहरों में और बड़े बड़े मार्किट और मॉल में लगभग 300-400 रुपये प्रति 250 ग्राम या प्रति 500 ग्राम बताई जा रही है। किसान ने बताया की इस भिंडी की खेती के लिए वह बीज बनारस से लेकर आये थे। जब से उनके बगीचे में ये भिंडी हुई है तब से ही दूसरे किसान भी इस भिंडी की खेती करने के बारे में सोच रहे हैं। उन्होंने ये भी बताया कि एक एकड़ जमीन पर कम से कम 40-50 क्विंटल भिंडी और ज्यादा से ज्यादा 70-80 क्विंटल भिंडी उगाई जा सकती है।

भिंडी की इस वैरायटी पर रिसर्च इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल ने साल 2019 में की थी। इस तरह की भिंडी को बनाने में उन्हें 23 साल की रिसर्च लगी थी। भिंडी की इस वैराइटी को काशी लालिमा कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top