पकोड़े में मिली थी मरी हुई छिपकली, घर पहुंचकर खोला पैकेट तो दिमाग रह गया सन्न

Viral News

तमिलनाडु का एक बेहद ही अजीब सा मामला लोगो को चौंका रहा है। जिसमे एक आदमी के समोसे में छिपकली मिलने की बात सामने आई है।

हम अक्सर बाहर की तली-गली चीजें खाते है। लेकिन खाने की चीजों में अगर कुछ कीड़ा आ जाये तो हम कैसे किसी खाने की दुकान पर भरोसा करेंगे। ऐसा ही कुछ मामला अभी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। जिसमे एक शख्स को समोसे के पैकेट में मरी हुई छिपकली मिली।

यह घटना तमिलनाडु के तिरुनेलवेली के पलायमकोट्टई शहर की बताई जा रही है। जहा एक स्नैक्स की दुकान से समोसे खरीदने वाले शख्स ने एक वीडियो के माध्यम से शेयर किया कि 23 अक्टूबर को उसने एक दुकान से समोसे ख़रीदे। जिसमे उसे मरी हुई छिपकली मिली। उसने यह शिकायत भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) विभाग में कराई। उसके बाद तिरुनेलवेली के अधिकारियों ने इस बात की जाँच के आदेश जारी किये।

lizard in pakode

शिकायत के बाद, खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों की एक टीम ने दुकान का दौरा किया और दुकान का पूरी तरह से निरीक्षण किया, जिसके बाद कई उल्लंघन पाए गए, जिसमें मिठाई और सेवई को बंद कंटेनरों में ठीक से नहीं रखा गया था। अधिकारियों को कुछ मिठाईयों को भी नष्ट करना पड़ा, जो खराब हो चुकी थीं। लेकिन फिर भी बिक्री के लिए रखी गईं थीं। वहीं, कुछ पैकेट बिना लेबल के पाए गए।

इस पुरे मामले पर एफएसएसएआई के अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस में बताते हुए कहा कि “हमें व्हाट्सएप पर एक शिकायत मिली जिसके बाद जिला कार्यालय से भी निर्देश मिले। घटना 23 अक्टूबर की है लेकिन हमें 25 अक्टूबर की शाम को शिकायत मिली। शिकायतकर्ता ने दावा किया कि जब उसने पैकेट खोला तो उसमें एक मरी हुई छिपकली मिली. पैकेट हमें कभी नहीं सौंपा गया था, हमें सिर्फ एक फोटो मिली थी. इसके आधार पर हमने दुकान का निरीक्षण किया.”

FSSAI

अधिकारी ने आगे कहा, “जिस विशेष प्रकार के पकोड़े का शिकायत में दावा किया गया था वह दुकान में नहीं मिला। लेकिन दुकान ने कई एफएसएसएआई मानदंडों का उल्लंघन किया। आउटलेट स्वच्छ नहीं था और उत्पादों को ठीक से कवर नहीं किया गया था। हमने दुकान के मालिक को एक लिखित बयान देकर और एफएसएसएआई मानदंडों के अनुसार आवश्यक उपाय करने के बाद दुकान खोलने के लिए सूचित किया।”

मरी हुई छिपकली के बारे में आगे बताते हुए, अधिकारी ने कहा कि अगर शिकायत ने पैकेट को खोलने से पहले पेश किया होता, तो वे कानूनी रास्ता अपनाते क्योंकि इसमें खरीद की तारीख, दुकान का नाम और अन्य विवरण स्पष्ट रूप से होते। हमने दुकान पर उल्लंघन पाया और हमने उसी के अनुसार कदम उठाए। इस बीच, दुकान के मालिक ने एक याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि उस व्यक्ति ने स्नैक्स के पैकेट के अंदर मरी हुई छिपकली को प्रत्यारोपित किया था और इस मुद्दे को मीडिया तक ले जाने से रोकने के लिए 20 लाख रुपये की फिरौती की मांग की थी।

याचिका के बारे में बोलते हुए, तिरुनेलवेली शहर के पुलिस आयुक्त एन के सेंथमारैकन्नन ने कहा, ‘याचिकाकर्ता ने दावा किया कि आरोप गलत है। उन्होंने कहा कि उन्हें धमकाया जा रहा है और कुछ राजनीतिक दलों ने पैकेट के अंदर छिपकली डालकर यह समस्या पैदा की है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top