24 साल की लड़की ने बिना दूल्हे के भरी मांग, अब ऐसे बनाएगी अकेले ही हनीमून।

Gujarat Girl Sologamy Marriage

Gujarat Women set to Marry Herself : आपने शादियां तो बहुत देखी होगी। शादियों में दूल्हा-दुल्हन बराती सभी रहते हैं, लेकिन भारत के गुजरात के बड़ोदरा की लड़की ने एक अनोखी ही शादी करी जिसमें ना तो कोई दूल्हा है और ना ही कोई बाराती था। क्षमा बिंदु ने अपनी शादी 11 जून को तय की थी। लेकिन क्षमा ने तय की गई तारीख से 2 दिन पहले ही 9 जून को यह शादी कर ली।

क्षमा बिंदु ने किया आत्मविवाह क्षमा ने खुद से ही लिए सात फेरे, खुद से ही भरी मांग क्षमा बिंदु ने खुद से शादी रचा ली है। लाल जोड़े में सजी क्षमा की शादी में सबकुछ वैसा ही था। जैसा किसी हिंदू लड़की की शादी में होता है, बस कुछ नहीं था तो दूल्हा और पंडित जी। गुजरात के वडोदरा की क्षमा बिंदू ने खुद से ही विवाह रचा लिया है।

खास बात ये रही कि क्षमा की शादी में वो सारी रस्में की गईं जो किसी दूसरी शादी में हुआ करती हैं। क्षमा बिंदू के ‘आत्मविवाह’ को गुजरात में एकल विवाह यानी Sologamy का पहला उदाहरण माना जा रहा है। क्षमा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर हल्दी, मेहंदी सहित तमाम रस्मों की फोटो शेयर की हैं। इन तस्वीरों में बिंदु अपने परिवार और दोस्तों के साथ बेहद खुश नजर आ रही हैं | क्षमा ने पहले घोषणा की थी कि वह मंदिर में एक हिंदू समारोह में आत्मविवाह करेंगी। लेकिन अब क्षमा ने तय तारीख से दो दिन पहले ही अपने आप के साथ 7 फेरे ले लिए।

यह एकल शादी जितनी अनोखी लग रही है, उतने ही पचड़े इसे करने जा रहीं क्षमा बिंदु के सामने हैं। पहले समाज का विरोध, फिर भाजपा नेता का विरोध और अब तो शादी करवाने वाले पंडित जी ने भी इंकार कर दिया है। पंडित जी का कहना है कि वह इस विवाह को नहीं करा सकते हैं। पहले इन्हीं पंडित जी ने शादी कराने पर सहमति भी दी थी।

हालांकि, अब क्षमा बिंदु का कहना है कि जिन पंडित जी ने इस विवाह को संपन्न कराने की बात कही थी, अब वह इससे हट गए हैं। इतनी अड़चनों के बाद भी क्षमा बिंदु इस तरह की शादी से पीछे हटने का नाम नहीं ले रही हैं। वह जिद पर अड़ी हैं कि वह खुद से शादी करके ही रहेंगी। अब उन्होंने कहा है, पंडित जी ने भले ही शादी कराने से इंकार कर दिया हो, लेकिन क्षमा ने डिजीटल तरीके से शादी की उन्होंने टेप पर मंत्र लगाकर इस अनोखी शादी को संपन्न किया।

शादी में क्षमा के कुछ दोस्त और करीबी रिश्तेदार ही शामिल हुए। 40 मिनट तक रस्मों का दौर चला, जो पंडित जी के ना आने से डिजिटल तरीके से संपन्न हुआ। नाच-गाना और खुशी के माहौल के बीच रस्में पूरी हुईं। माना जा रहा है कि भारत में खुद से शादी का यह पहला मामला है।क्षमा ने शादी की रस्मों को पूरा करने के बाद कहा, “मैं बेहद खुश हूं कि आखिरकार अब मैं शादीशुदा महिला हूं।” बिंदु ने Times India से बातचीत कर कहां की जो लोग प्यार करते हैं वह आपस में शादी करते हैं।

लेकिन क्षमा बिंदु का कुछ अलग ही मानना था, वह दुल्हन तो बनना चाहती थी लेकिन किसी की वाइफ नहीं इसलिए उन्होने sologamy को चुना, उन्होंने अपना हनीमून भी प्लान किया है जो दो हफ्तों का रहेगा इसमें उन्होंने गोवा को अपना हनीमून प्लेस डिसाइड किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top