अचानक नदी ने की 200 बकरियों की उलटी, सिर-कटी लाशें देख गांव में मच गया हंगामा

America River

America की एक अजीबो गरीब घटना जिसको सुनकर आपको हैरानी होगी की क्या सच में ऐसा होता है। हमने भारत में जादू टोने और अनुष्ठान जैसी बातो के बारे में सुना और शायद देखा भी हो लेकिन अमेरिका जैसी जगह में ऐसा कुछ होना हैरान करने वाला था। अमेरिका के जॉर्जिया में बहने वाली एक नदी में बकरी की कटी लाशों के सर मिलना यहाँ के लोगो के लिए हैरानी की बात तो थी साथ ही उनकी हेल्थ के लिए ये घातक भी साबित हो सकता था क्योकि जिस नदी से लाशें मिली वह से लोगो को पिने का पानी सप्लाई किया जाता है।

America NEws

America के जॉर्जिया में बहने वाली चत्ताहूची नदी में एक के बाद एक करीब दो सौ बकरियों की बॉडी तैरती मिली। इन सभी के सिर कटे हुए थे, जिसे देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि किसी अनुष्ठान के लिए इनकी बलि दी गई थी। इसके बाद लाशों को नदी में फेंक दिया गया होगा। अमेरिकन स्टेट ऑफ़ जॉर्जिया की पुलिस ने इस मामले की जांच की तो यह निष्कर्ष निकाला गया की वह के लोकल लोगो द्वारा अनुष्ठान किया जा रहा है जिसको सनटेरिया कहा जाता है इसमें जानवरों की बलि चढ़ाई जाती है।

चैनल 2 Action News को दिए इंटरव्यू में पर्यावरणविद जैसन अलसथ ने बताया की अब तक नदी में 200 बकरियों की लाश मिल चुकी है इसके पहले 20 या 30 बकरियों की लाश मिलना तो आम बात थी लेकिन यह पहली बार हुआ है की 200 बकरियों की लाश मिली है।

America NEws

हाल ही में सोशल मीडिया पर इस अनुष्ठान का वीडियो वायरल हुआ। इसमें नदी में तैरती बकरियों की लाशें नजर आ रही हैं, साथ ही एक शख्स ने ब्रिज से बकरी को नीचे फेंका, और यह नजारा कैमरे मे कैद हो गया। नीचे जोरदार आवाज में बकरी की बॉडी गिरी। जैसन के मुताबिक़, रात के अंधेरे से लेकर दिन के उजाले तक में नदी में बकरियों को फेंकने की आवाजें आती है। सबसे चिंता की बात तो ये है कि जिस नदी में बकरियों की लाशें फेंकी जा रही है उससे करीब 50 लाख लोग पानी पीते हैं।

बकरियों की इतनी लाशों का कनेक्शन एक अनुष्ठान से जोड़ा जा रहा हैं ,जो कि वेस्ट अफ्रीका में किया जाता है। इसका संबंध रोमन कैथोलिक रिलीफ से है। एक सनटेरिया प्रीस्ट ने बताया कि अनुष्ठान में बकरे की बलि किसी जीत पर दी जाती है। जबकि बकरी की बलि बच्चे को पाने के लिए दी जाती हैं। लोकल पुलिस इन लाशों को नदी से निकाल कर जमा कर रही है। सबसे बड़ी चिंता है कि कहीं इन लाशों के फेंकने से पानी में जहर ना फ़ैल जाए। क्यूंकि इस नदी का पानी लोगों के घरों में पीने के लिए सप्लाई किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top